गुड नाईट शायरी इन हिंदी | शुभ रात्रि एसएमएस विश संदेश | Good Night Shayari

Good night Shayari in Hindi: गुड नाईट वह समय होता है जब हम किसी अपने यानी प्रिये को शुभ रात्रि करते हैं| इस समय आप किसी अपने को विश करने की इच्छा रखते हो तो आप आप उनको गुड नाईट शायरी इन हिंदी ,समझ collection , मेसेज, कोट्स, स्टेटस, विश (wishes), शुभकामनायें, उद्धरण, एसएमएस, साहरी, sayaree को अपने गर्लफ्रेंड, बॉयफ्रेंड, प्रेमी, प्रेमिका, पति, पत्नी, दोस्त, भाई, बहन, माँ, पिता या छोटे बच्चे के साथ फेसबुक, व्हाट्सप्प या अन्य किसी सोशल साइट्स पर शेयर कर सकते हैं।

काश कि तु चाँद और मैं सितारा होता;
आसमान में एक आशियाना हमारा होता;
लोग तुम्हे दूर से देखते;
नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता।

मीठी मीठी याद पलकों मैं सजा लेना
साथ गुज़रे पल को दिल मैं बसा लो
दिल को फिर भी न मिले सुकून तो
मुस्कुरा कर मुझे सपनो मैं बुला लेना

मिलने आएंगे हम आपसे ख़्वाबों में
ज़रा रोशनी के दिए बुझा दीजिए
अब और नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाक़ात का
ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए
शुभ रात्रि

Milane Aayenge Hum Aapse Khwaabon Mein
Jaraa Roshani Ke Diye Bujha Dijiye
Ab Aur Nahin Hota Intezaar Aapse Mulaakaat Ka
Jaraa Apni Aankho Ke Parde To Gira Dijiye
Good Night

ज़िन्दगी में कामयाबी की मंज़िल के लिए ख्वाब ज़रूरी है
और ख्वाब देखने के लिए नींद !
तो अपनी मंज़िल की पहली सीढ़ी चढ़ो !
और सो जाओ

वादा करो आज भी ख़्वाबों में आओगे .!
रात भर अपने साथ चाँद पर ले जाओगे .!

दिल में हल्का सा शोर हो रहा है ,
बिना SMS दिल बोर सा हो रहा है .
कहीं ऐसा तो नहीं एक प्यारा सा दोस्त .
GOOD NIGHT किये बिना सो रहा है .

सितारों में अगर नूर न होता ..
तन्हा दिल मजबूर न होता ..
हम आपको GooD Night कहने ज़रूर आते ..
अगर आप का घर दूर न होता
\
रात क्या हुयी रौशनी को भूल गए,
चाँद क्या निकला सूरज को भूल गए,
माना कुछ देर हम ने आपको को SMS नहीं किया,
तो क्या आप हमें याद करना भूल गए,
? Good Night Friend ?

जी चाहता है तुम से प्यारी सी बात हो,
हसीं चाँद तारे हो, लम्बी सी रात हो,
फिर रात भर यही गुफ्तगू रखे हम दोनों,
तुम मेरी जिंदगी हो, तुम मेरी कायनात हो.
? Good Night Friend ?

ये रात चाँदनी बनकर आँगन में आये,
ये तारे लोरी गा कर आपको सुनाएं,
आयें आपको इतने प्यारे सपने यार…
कि नींद में भी आप हलके से मुस्कुराएं।

सलामती की दुआ…
जैसे चाँद का काम है रात में रौशनी देना,
तारों का काम है सारी रात चमकते रहना,
दिल का काम है अपनों की याद में धड़कते रहना,
हमारा काम है आपकी सलामती की दुआ करते रहना।
। शुभ रात्रि ।

हर रात मैं भी आपके पास उजाला हो
हर कोई आपका चाहने वाला हो
वक़्त गुजर जाये उनकी यादो के सहारे
हो ऐसा कोई आप के सपनो को सजाने वाला हो
“शुभ रात्रि “

सितारे चाहते हैं की रात आये
हम क्या लिखें की आपका जवाब आये
सितारों जैसी चमक तो नही मुझमे
हम क्या करें की हमारी याद आये “शुभ रात्रि “

कितनी जल्दी ये शाम आ गई,
गुड नाइट कहने की बात याद अा गई,
हम तो बैठे थे सितारों की महफिल में,
चांद को देखा तो आपकी याद आ गई।
शुभ रात्रि

चाँद को बैठाकर पहरों पर;
तारों को दिया निगरानी का काम;
एक रात सुहानी आपके लिए;
एक स्वीट सा ‘ड्रीम’ आपकी आँखों के नाम!
शुभ रात्रि!

ऐसी हसीं आज बहारो की रात हैं
एक चाँद आसमा पैर हैं एक मेरे पास हैं
देने वाले ने कोई कमी ना की
किसको क्या मिला ये मुकद्दर की बात हैं
“शुभ रात्रि “

उसकी प्यारी मुस्कान होश उड़ा देती है
उसकी प्यारी आँखे हमे दुनिया भुला देती है
आएगी आज भी वो मेरे स्वप्नों में यारों
बस यही उम्मीद हमे रोज़ सुला देती है …!

चाँद भी तो देखो तुम्हें तक रहा हैं
सितारे भी थमे थमे से लग रहे हैं
जरा मुस्कुरा दो हम सब के लिए
हम भी तो तुम्हें शुभ रात्रि कह रहें हैं शुभ रात्रि

जिन्दगी एक रात है,
जिस में ना जाने कितने ख्वाब हैं,
जो मिल गया वो अपना है,
जो टुट गया वो सपना है,
ये मत सोचो की जिन्दगी में कितने पल है,
ये सोचो की हर पल में कितनी जिन्दगी है,
इसलिए… जिन्दगी को जी भर कर जी लो…

ए पलक तु बन्द हो जा,
ख्बाबों में उसकी सूरत तो नजर आयेगी,
इन्तजार तो सुबह दुबारा शुरू होगी,
कम से कम रात तो खुशी से कट जायेगी|

चाँद ने चाँदनी बिखेरी है,
तारों ने आसमान को सजाया है,
कहने को तुम्हें शुभ रात्रि,
देखो स्वर्ग से कोई फरिश्ता आया है।
शुभ रात्रि

अगर मै हद से गुज़र जाऊ तो मुझे माफ़ करना,
तेरे दिल में उत्तर जाऊ तो मुझे माफ़ करना,
रात में तुझे देख के तेरे दीदार के खातिर,
पल भर जो ठहर जाऊ तो मुझे माफ़ करना.

जाने उस शख्स को कैसे ये हुनर आता है,
रात होती है तो आँखों में उतर आता है,
मैं उस के खयालो से बच के कहाँ जाऊं,
वो मेरी सोच के हर रस्ते पे नजर आता है !

क्यों किसी के ख्यालों में खोया जाए,
क्यों किसी की यादों में रोया जाए,
इस दुनिया के झमेले में पड़ना है बेकार यारों,
चलो जी भर के सोया जाए।

मुझे रुला कर सोना..
तो तेरी आदत बन गई है,
जिस दिन मेरी आँख ना खुली..
तुझे निंद से नफरत हो जायेगी.

दिल की किताब में गुलाब उनका था,
रात की नींद में ख्वाब उनका था,
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा,
मर जायंगे तुम्हारे बिना ये जबाब उनका था.

रात गुमसुम हैं मगर चाँद खामोश नहीं,
कैसे कह दूँ फिर आज मुझे होश नहीं,
ऐसे डूबा तेरी आँखों के गहराई में आज,
हाथ में जाम हैं,मगर पिने का होश नहीं.

Hits: 0

Updated: March 8, 2019 — 5:40 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *